नौकर: अध्याय 13

नौकर

आश्रम में गांधी कई ऐसे काम भी करते थे जिन्हें आमतौर पर नौकर चाकर करते। है। जिस ज़माने में वे …

Read more

लोकगीत : अध्याय 12

लोकगीत

लोकगीत अपनी लोच, ताजगी और लोकप्रियता में शास्त्रीय संगीत से भिन्न हैं। लोकगीत सीधे जनता के संगीत हैं। घर, गाँव …

Read more

टिकट – अलबम : अध्याय 7

टिकट - अलबम

अब राजप्पा को कोई नहीं पूछता। आजकल सब के सब नागराजन को घेरे रहते। ‘नागराजन घमंडी हो गया है’, राजप्पा …

Read more

ऐसे-ऐसे : अध्याय 6

ऐसे-ऐसे

पात्र-परिचय मोहन : एक विद्याधरदीनानाथ : एक पड़ोसीमाँ : मोहन की माँपिता : मोहन के पितामास्टर : मोहन के मास्टर …

Read more

साथी हाथ बढ़ाना : अध्याय 5

साथी हाथ बढ़ाना

साथी हाथ बढ़ानाएक अकेला थक जाएगा, मिलकर बोझ उठाना।साथी हाथ बढ़ाना। हम मेहनतवालों ने जब भी, मिलकर कदम बढ़ायासागर ने …

Read more